मदद की प्रार्थना
September 16, 2017
पीड़ित मानवता बिलख रही है !
November 15, 2017

राम राम।

हमारी सनातन परम्परा रही है कि हमारे पित्र श्राद्ध पक्ष में अपने पुत्रों से अन्न जल ग्रहण करने की आस रखते है। जिनको अपने पितरों की मृत्यु तिथि पता नहीं हो वे अमावस को अपने पितरों के लिये भोजन और भंडरा रख कर पित्र कृपा प्राप्त करनी चाहिये।

उपकार संस्थान ट्रस्ट गरीब अनाथ वृद्ध ओर विधवाओ को भोजन करवाता है। कृपया भोजन भंडारे का दान देकर पित्र ऋण से मुक्ति पाए।

अधिक जानकारी के लिये संपर्क करें

www.upkarsansthantrust.org


 

1 Comment

  1. MOHIT GAUR says:

    GOOD

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *